Saturday, February 4, 2023
HomeEducationईसाई धर्म में इतने सारे संप्रदाय क्यों हैं?

ईसाई धर्म में इतने सारे संप्रदाय क्यों हैं?

यीशु के अनुयायी दुनिया भर में फैले हुए हैं। लेकिन 2 बिलियन से अधिक ईसाइयों के वैश्विक शरीर को हजारों संप्रदायों में विभाजित किया गया है। पेंटेकोस्टल, प्रेस्बिटेरियन, लुथेरन, बैपटिस्ट, एपोस्टोलिक, मेथोडिस्ट – सूची चलती है। अनुमान बताते हैं कि अमेरिका में 200 से अधिक ईसाई संप्रदाय हैं और विश्व स्तर पर 45,000 के आसपास एक चौंका देने वाला है वैश्विक ईसाई धर्म के अध्ययन के लिए केंद्र। तो ईसाई धर्म की इतनी शाखाएँ क्यों हैं?

एक सरसरी नज़र से पता चलता है कि विश्वास, शक्ति पकड़ और भ्रष्टाचार में अंतर सभी को खेलने का एक हिस्सा था।

Leave a Reply

Most Popular

Recent Comments

%d bloggers like this: